Bihar News: एक अप्रैल 2016 को बिहार में कुछ ऐसा हुआ था, जिसकी किसी को उम्मीद नहीं थी। इसी दिन बिहार सरकार ने अपने राज्य में शराब पर बैन लगा दिया था, सालों से बिहार की राजनीति में चर्चा का मुद्दा रही इस शराब बंदी को लेकर फिर बातें होने लगी हैं, मीडिया रिपोर्ट्स में बताया जा रहा है बिहार सरकार शराब बंदी को ख़त्म कर सकती है, इसके लिए अभी विचार किया जा रहा है।

इस खबर के आने के बाद से ये बातें होने लगी हैं की क्या नीतीश कुमार फिर बिहार के लोगों को मरने के लिए छोड़ रहे हैं। बिहार के मुख्यमंत्री नितीश कुमार के एक बयान के बाद इस खबर ने तूल पकड़ ली है, सूत्रों की मानें तो जातीय जनगणना के आधार पर ही शराब को लेकर आम लोगों से राय ली जाएगी।

हालाँकि ये साफ नहीं है की किस बात को लेकर इस सर्वे के लिए कहा गया है। बता दें की बिहार में शराब के उत्पादन और बिक्री पर पूरी तरह से रोक है, नियम यहां तक है की अगर कोई शराब पीते हुए पकड़ा गया तो उसे जेल हो सकती है।

ये भी पढ़ें: गोरखपुर DDU यूनिवर्सिटी का बड़ा फैसला, छात्रों की होने वाली है बल्ले-बल्ले!

जानकार बताते हैं की इस शराब बंदी को खत्म करने की संभावना बेहद ही कम है, इसी मुद्दे पर नितीश कुमार सालों से चुनाव लड़ते और जीतते आए हैं। शराब को फिर शुरू करने से आर्थिक तौर पर तो सरकार को लाभ होगा, लेकिन इससे अन्य स्थितियां बिगड़ सकती हैं। अब देखना होगा की इस मुद्दे को लेकर विपक्ष की ओर से क्या बयान आता है।

Latest posts:-

मीडिया के क्षेत्र में 2 साल का अनुभव है। समाचार नगरी से करियर की शुरुआत करते हुए बतौर फैक्टचेकर और कंटेंट राइटर के रूप में काम किया, जहां इन्हें 18 महीनों का अनुभव मिला। इसके बाद अलग-अलग पोर्टल पर...