जिलेवार खबरें

यूपी बोर्ड : पास कर दिए तो आप मेरे बहनोई, नहीं किए तो हम आपके बहनोई…

यूपी बोर्ड परीक्षा खत्म होने के बाद अब उत्तर पुस्तिकाओं की जांच शुरू हो गई है। परीक्षकों को उत्तर पुस्तिकाएं जांचने के दौरान परीक्षार्थियों का अजीबो गरीब जवाब पढ़ने को मिल रहा है। परीक्षार्थियों के जवाब पर परीक्षकों को समझ में नहीं आ रहा है कि वे हंसे या क्या करें।
मंगलवार को सारनाथ स्थित महाबोधि इंटर कॉलेज में चल रहे बोर्ड की कापियों के मूल्यांकन के दौरान सामाजिक विज्ञान की कॉपियां जांची जा रही थी। जिसमें लिखा था कि ‘पास कर दिए तो आप मेरे बहनोई, नहीं किए तो हम आपके बहनोई…।’ ‘हमें पास कर देना क्योंकि सरकार आपको पैसा देती है…।’

‘मैं अपनी जमीन जायजाद आपके नाम कर दूंगा पता भेज दीजिए, परीक्षा पास होने पर 10 हजार रुपये भी दूंगा…।’ ये अजीबो गरीब गुहार पास होने का सपना पूरा करने के लिए लगा रहे है। कभी परीक्षार्थी परीक्षकों को अपना रिश्तेदार बना रहे हैं तो कभी कुछ इसकी खुशी में अपनी जमीन जायदाद भी देने को तैयार हैं।

बता दें कि जिले में कापियों के मूल्यांकन के लिए राजकीय क्वींस इंटर कॉलेज, प्रभु नारायण पीजी कॉलेज रामनगर और महाबोधि इंटर कॉलेज सारनाथ में मूल्यांकन केंद्र बनाया गया है। आठ मार्च से शुरू मूल्यांकन दो दिन बहिष्कार की वजह से बाधित रहा लेकिन 10 मार्च से शिक्षक काम पर लौटे और कापियां जंचनी शुरू हो गई हैं। केंद्र के सह उप नियंत्रक प्रवीण श्रीवास्तव ने बताया कि अब तक 20994 कापियों का मूल्यांकन हो चुका है ।
परीक्षकों की गतिविधियों पर नजर
यूपी बोर्ड की कापियों का मूल्यांकन करने वाले परीक्षकों पर विशेष नजर रखी जा रही है। पिछले दिनों कमरे में मूल्यांकन के दौरान मोबाइल लेकर परीक्षकों के जाने की खबर के बाद सतर्कता बढ़ गई है। मंगलवार को डीआईओएस डॉ. विजय प्रकाश सिंह मूल्यांकन केंद्रों का दौरा कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया।

बताया कि हर केंद्र पर दो-दो पर्यवेक्षक तैनात किए गए हैं, जिससे कि किसी तरह की गड़बड़ी न होने पाए। बताया कि क्वींस इंटर कॉलेज में हाईस्कूल की 122963 में अब तक 7941 कापियां जंच चुकी है जबकि इंटर में 136903 में 18373 कापियों की जांच हो चुकी है। इसके अलावा अन्य केंद्रों पर भी 10 से 15 प्रतिशत तक मूल्यांकन कार्य हो चुका है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सबसे ज्यादा पढ़ी गई खबर

To Top