जिलेवार खबरें

गैर संचारी रोगों के मरीजों की स्क्रीनिंग शुरू


सौरभ पाण्डेय,

महराजगंज:- सदर ब्लाक के हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर करमहा पर गैर संचारी रोग नियंत्रण अभियान शुरू कर दिया गया। अभियान का शुभारंभ नगर पालिका परिषद महराजगंज के अध्यक्ष कृष्ण गोपाल जायसवाल ने फीता काटकर की। इस दौरान उन्होंने कहा कि अभियान में लगे स्वास्थ्य कर्मी पूरे मनोयोग से गैर संचारी रोगों के मरीजों को ढूंढें तथा उचित सलाह व उपचार दें।कार्यक्रम के नोडल अधिकारी अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डाँक्टर महेन्द्र कुमार ने कहा कि इस अभियान के तहत जनपद में 30 साल से अधिक उम्र के करीब 27,000 लोगों की स्क्रीनिंग कर बीपी, शुगर और कैंसर जैसे गैर संचारी रोगों के मरीजों को ढूंढने का लक्ष्य है। इसके लिए आगामी15 फरवरी तक विशेष अभियान चलेगा।
अभियान की जिम्मेदारी प्रशिक्षित चिकित्सक, एएनएम तथा आशा कार्यकर्ता को जिम्मेदारी सौंपी गई है।
अभी यह अभियान 40 स्वास्थ्य केंद्रों/ हेल्थ वेलनेस सेंटर्स पर चलाया जा रहा है। अभियान के दौरान आशा कार्यकर्ताओं द्वारा अपने कार्य क्षेत्र के सभी घरों का भ्रमण कर परिवार फोल्डर बनाया जाएगा तथा 30 साल से अधिक आयु वर्ग के पुरुषों और महिलाओं का सीबैक फार्म भरा जाएगा। इस उक्त फार्म को कमुनिस्ट हेल्थ आफिसर या एएनएम के पास जमा किया जाएगा।
स्क्रीनिंग के लिए 21पीएचसी स्तर के चिकित्सक ,19 कम्युनिटी हेल्थ आफिसर ( सीएचओ)तथा 464 प्रशिक्षित आशा कार्यकर्ता लगाए गए हैं। स्क्रीनिंग के दौरान खास तौर से मधुमेह, उच्च रक्तचाप एवं कैंसर जैसी बीमारियों की जांच की जाएगी तथा सभी का समुदाय आधारित मूल्यांकन प्रपत्र भरा जाएगा। इसे गैर संचारी रोग पोर्टल पर भी अपलोड किया जाएगा।
कार्यक्रम के उदघाटन अवसर पर सदर सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के अधीक्षक डाक्टर के पी सिंह, डिस्ट्रिक्ट कम्युनिटी प्रोसेस मैनेजर संदीप पाठक, बीपीएम सूर्य प्रताप सिंह, स्वास्थ्य शिक्षा अधिकारी श्रीभागवत सिंह, बीसीपीएम लवली वर्मा आदि मौजूद रहे।

ग्राम पंचायत करमहा निवासी रामधारी व गुलाइची देवी ने बताया कि जांच तो पहले भी होती रही, मगर इस स्तर से जांच होने से बेहतर लाभ मिलेगा। ऐसी जांच में पहले लोगों का धन एवं समय दोनों बचेगा।बीमारी का भी पता चल जाएगा। मरीज सजग हो जाएगा। बीमारी से निजात मिल जाएगी।

क्या है गैर संचारी रोग

महराजगंज। गैर-संचारी रोग (एनसीडी) के अंतर्गत वह रोग आते हैं, जो एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में सीधे प्रसारित नहीं होते हैं। गैर-संचारी रोगों में पार्किंसन रोग, स्वप्रतिरक्षित रोग, स्ट्रोक, अधिकांश हृदय रोग, मधुमेह रोग, गुर्दे की पुरानी बीमारी, अल्जाइमर रोग, मोतियाबिंद और अन्य रोग शामिल हैं।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सबसे ज्यादा पढ़ी गई खबर

To Top