जिलेवार खबरें

मऊ में कागजों में लगाए गए लाखों पौधे? असल में कुछ नहीं

देवेंद्र कुशवाहा

मऊ। ग्राम पंचायतों को हरा भरा बनाने के लिए 15 अगस्त के दिन शासन प्रशासन के निर्देश पर ब्लाक के सभी 81 ग्राम पंचायतों में बड़े ही जोर शोर से मनरेगा योजना के तहत पौध सरकारी नर्सरियों से लेकर लगाये गए लेकिन वह भी कागजो तक सीमित होकर रह गया । इसका नजारा कोपागंज ब्लाक के गांवो में देखा जा सकता है । जहाँ वर्ष 2018 – 19 में कुल 17 हजार पौध रोपड़ कुल 2 लाख 89 हजार में किया गया, लेकिन मौके पर स्थिति धरातल से इतर है ।


कोपागंज ब्लाक में कुल 81 ग्राम पंचायते है । उक्त सभी ग्राम पंचायतों में शासन प्रशासन के निर्देश पर वर्ष 2018 – 19 में स्वतंत्रता दिवस के दिन ग्राम विकास योजना के अंतर्गत मनरेगा से पौध रोपड़ किया जाना था । इसके तहत ग्राम पंचायत बीबीपुर में 900 , बढ़ावे में 500, मीरपुर में 650, एकौना मे 1000, फिरोजपुर में 1200, भलुईडीह में 1000, जहनियापुर में 1000, फेजुल्लाहपुर में 900, डंगोली में 1500 , ऐसे ही ब्लाक के सभी गांवो में कुछ ना कुछ पौध रोपड़ किया गया । सभी गांवो में मिलाकर कुल 17 हजार पौध रोपड़ किया गया ।

गांवो में किये गये पौध रोपड़ की खरीदारी व लगवाई तक कुल 17 रुपये प्रति पौधे खर्च किया गया जिसमें 7 रुपये से लेकर 9 रुपये तक पौधों पर खर्च करने थे शेष लगवाई पर खर्च करना था । इस तरह ब्लाक के गांवों में लगाये गये कुल 17 हजार पौधों पर 2 लाख 89 हजार खर्च किया गया । उक्त अभियान के तहत कुछ गांवो में पौध रोपड़ कर ग्राम पंचायते इति श्री कर लेती है । इसके बाद ये जानने की जहमत तक नही उठता की पौध कैसे है । पौध लगाने के बाद उनकी देख रेख व सिचाई नही की जाती है । जबकि 15 अगस्त के दिन लगाए गए पौधों पर तो ग्राम विकास विभाग व मनरेगा योजना द्वारा कुल 2 लाख 89 हजार खर्च कर दिया गया लेकिन वास्तविकता पूरे ब्लाक में इससे इतर है । अभी तो केवल यह एक वानगी है । इसी तरह जनपद के सभी ब्लाकों में देखा जाये तो स्थिति और भी चौकाने वाली होगी ।

कोपागंज ब्लाक ही नही अपितु जनपद के सभी ब्लाकों में वर्ष 2016-17 में हरियाली योजना के तहत लाखो लाख खर्च कर पौध रोपड़ किया गया । ब्लाक से मिले आंकड़े पर नजर डाले तो केवल कोपागंज ब्लाक के गांवों में 91 हजार पौधे रोपड़ लाखो खर्च कर किये गये । लेकिन देखा जाय तो आज सभी मौके से गायब है । क्षेत्र के गुलाब ,राजेश ,इनामुल ,पंकज ,चंद्रपति , घूरा ,विनोद आदि का कहना है कि अगर उक्त योजना व लगाये गए पौधों की जांच हो तो अनेको चौकाने वाले तथ्य सामने होंगे ।

ब्लाक के गांवों में वर्ष 2018 -19 में 15 अगस्त के दिन सभी गांवो में कुल 2 लाख 89 हजार में 17 हजार पौघे लगाये जाने के वावत ब्लाक के एपीओ अनूप कुमार का कहना है कि मौके पर उपस्थित हो पौघे रोपड़ गांवो में कराया गया । अगर आज गांवो में पौघे रोपड़ किये गये पौघे नही दिख रहे तो इसके जिम्मेदार ग्राम प्रधान है । बहरहाल इसकी जांच कराई जाएगी ।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सबसे ज्यादा पढ़ी गई खबर

To Top