जिलेवार खबरें

मऊ: पुरानी रंजिश में दिनदाहड़े ग्राम प्रधान की गोली मारकर हत्या

देवेंद्र कुशवाहा
मऊ। स्थानीय थाना क्षेत्र के ग्राम असलपुर में रविवार को दिन में लगभग ग्यारह बजे ग्राम प्रधान मुन्ना राम की दिन दहाड़े एक युवक द्वारा गोली मारकर हत्या कर दी गयी। इस हत्याकांड की खबर फैलते ही पूरे क्षेत्र में सनसनी फैल गई।बताया जाता है कि रविवार को ग्राम सभा असलपुर में स्थित एक पोखरे की होने वाली नीलामी के लिए प्राथमिक विद्यालय के परिसर लोग एकत्रित हो रहे थे और प्रधान मुन्ना राम भी अपने लड़के के साथ वहां पहुंच गये और कुछ देर बाद उनकी पत्नी भी गांव की कुछ महिलाओं के साथ वहां पहुंच गयी।

इसी बीच दिन में लगभग ग्यारह बजे पुरानी रंजिश को लेकर गांव के ही सात लोग पहुंच गये और प्रधान को जातिसूचक गालियों का प्रयोग करते हुए मारने के लिए ललकारने लगे। तभी एक युवक राहुल सिंह ने पोखरे की नीलामी के लिए जुटी पंचायत के सामने ही प्रधान को रिवाल्वर से गोली मार दिया ।ग्राम प्रधान को सिर में 2,, सीने में 2 और पेट में 4 कुल 8 गोलियां लगीं। जिससे मौके पर ही उनकी मौत हो गई । गोली चलने से वहां मौजूद सभी लोग भयभीत हो गये और भाग खड़े हुए ।

घटना की सूचना मिलते ही पहुंची पुलिस को शव को कब्जे में लेने से लोगों ने रोक दिया गया और आक्रोशित ग्रामीण ग्राम प्रधान को मौके पर ही दफनाने की ज़िद करने लगे और आरोपियों की तत्काल गिरफ्तारी की मांग करने लगे। थानाध्यक्ष, सी ओ मुहम्मदाबाद नंदलाल ,सीओ सिटी राजकुमार व एडिशनल एस पी शैलेन्द्र श्रीवास्तव व स्वाट टीम ने काफी समझाने का प्रयास किया लेकिन ग्रामीण नही माने । कुछ देर बाद पुलिस अधीक्षक अनुराग आर्य भी मौके पर पहुंच गए और मृतक की पत्नी व गांव वालों को काफी समझाया। काफी मशक्कत के बाद ग्रामीण माने।उसके बाद पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। गांव में दो वर्गों के बीच व्याप्त तनाव को देखते हुए भारी पुलिस बल तैनात है।

बताया जाता है कि लगभग एक वर्ष पूर्व आरोपी युवक राहुल सिंह और उसके परिवार से खेत की ज़मीन को लेकर झगड़ा हो गया था। मामला बढ़ा कि ग्राम प्रधान और आरोपी युवक के बीच खूनी संघर्ष भी हुआ । पुलिस दोनों पक्षों को थाने ले आई और आरोपी युवक और उसके परिवार के दलित उत्पीड़न की धाराओं में मुकदमा हो गया। मई माह में जेल से छूटने के बाद युवक घर आया । युवक गांव में घूम कर ग्राम प्रधान को जान से मारने की धमकी भी दिया करता था। मृतक की मीरा देवी की तहरीर पर पुलिस से सात आरोपियों के विरुद्ध संबंधित धाराओं में मुकदमा पंजीकृत कर लिया है।

दिन दहाड़े घटित इस घटना से लोगों में हड़कंप मच गया। वहीं इस हत्याकांड ने कई सवाल छोड़ दिया। जिसका जवाब देने से प्रशासन कतरा रहा है।क्योंकि नीलामी के दौरान किसी राजस्व अधिकारी का तथा पुलिस का मौके पर न होना प्रशासन की कार्यशैली पर भी प्रश्नचिन्ह लगा रहा है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सबसे ज्यादा पढ़ी गई खबर

To Top