जिलेवार खबरें

पीएमएसएमए दिवस पर हुई 45 गर्भवती महिलाओं की जांच,आठ एचआरपी मिली

सौरभ पांडेय

महराजगंज:-सदर सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पर बुधवार को प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान दिवस( पीएमएसएमए) पर न केवल गर्भवती महिलाओं की जांच की गई, बल्कि उन्हें गर्भावस्था के दौरान पोषक तत्वयुक्त आहार लेने तथा सावधानी बरतने की सलाह दी गई। गर्भवती के बीच फल भी वितरित किया गया।यहां जांच कराने आईं 45 गर्भवती महिलाओं में 8 उच्च जोखिम गर्भवती ( एचआरपी) पाई गईं।हर माह की नौ तारीख को प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान दिवस का आयोजन किया जाता है।

सदर सीएचसी की महिला चिकित्सक पुनीता शर्मा बताया कि गर्भवती होने का पता चलते ही नजदीक के सरकारी अस्पताल पर जाकर पंजीकरण करा लेना चाहिए।


प्रसव से पहले कम से कम चार बार जांच जरूर कराएं, जिसमें खून, पेशाब, रक्तचाप, वजन, पेट की जांच करा लेनी चाहिए। टिटनेस टाक्साईड के टीके भी लगवा लें। गर्भावस्था के दौरान आयरन फोलिक एसिड की गोलियों का सेवन करती रहें।उन्होंने कहा कि गर्भावस्था के दौरान पौष्टिक आहार पर विशेष जोर दिया जाना चाहिए। दूध, दही, छाँछ, पनीर,ताजा एवं मौसमी फल, हरी सब्जियां, दाल, चना, गुड़ , मक्खन, घी,आदि का सेवन करते रहना चाहिए।

यदि गर्भावस्था के दौरान किसी के पेट में दर्द हो, शरीर से रक्तस्राव हो, पैरों में सूजन हो, दौरे पड़ता हो, बुखार रहता हो, कमजोरी महसूस होता हो, थकान लगता हो तथा सांस फूलता हो तो यह खतरे का संकेत है।ब्लाक कम्युनिटी प्रोसेस मैनेजर लवली वर्मा ने बताया कि दर सीएचसी पर अप्रैल 2019 से सितम्बर 2019 तक कुल 387 गर्भवती पंजीकृत हैं, जिसमें से 54 उच्च जोखिम गर्भवती हैं।उन्होंने बताया कि बुधवार को जिन 45 गर्भवती की जांच की गई उसमें 8 उच्च जोखिम गर्भवती मिली हैं, जिन्हें आवश्यक दवा एवं खानपान के बारे में बताया गया।

किसे कहते हैं उच्च जोखिम गर्भवती

महराजगंज। डाक्टर मनोज मिश्रा ने बताया कि जिस गर्भवती महिला को उच्च रक्तचाप, मधुमेह, मलेरिया, पहला बच्चा आपरेशन से हुआ हो, पहला गर्भपात हो गया हो, एनीमिया की शिकार हो, कद छोटा हो, दौरे आता हो उसे उच्च जोखिम गर्भवती माना जाता है। ऐसी गर्भवती को अपने सेहत पर ध्यान देने की जरूरत होती है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सबसे ज्यादा पढ़ी गई खबर

To Top