जिलेवार खबरें

कांग्रेस के उम्मीदवारों की सूची में अफसर से लेकर कुख्यात डकैत शामिल

कांग्रेस ने मौजूदा लोकसभा चुनाव के महासमर में जहां एक ओर अपने पुराने दिग्गज नेताओं पर फिर दांव लगाया है वहीं दूसरे दलों से आए नेताओं को खासी तरजीह दी है। तरजीह इस हद तक कि दूसरे दल से आने वालों को महज दो घंटे से लेकर 24 घंटे के अन्दर टिकट बांटे गए। अलबत्ता पार्टी की उम्मीदवारों की सूची में आईआईटी इंजीनियर, पत्रकार, पुलिस-प्रशासनिक अफसर से लेकर कुख्यात डकैत के करीबी रिश्तेदार तक शामिल हैं।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अपनी बहन प्रियंका गांधी को जब राष्ट्रीय महासचिव और पूर्वी उत्तर प्रदेश का प्रभारी बनाया था तो उन्होंने सबसे पहले लोकसभा सीटवार कार्यकर्ताओं के साथ मैराथन बैठकें की थीं। इन बैठकों में कार्यकर्ताओं की ओर से जो सबसे मुखर मांग की गई थी उनमें बाहरी स्काइलैब उम्मीदवार न उतारे जाने की मांग शामिल थी। इसके पीछे उनका तर्क था कि बाहरी नेता पार्टी के टिकट पर चुनाव लड़ते हैं और हारने के बाद पार्टी छोड़ कर चले जाते हैं। मगर, यह पार्टी की मजबूरी भी हो सकती है या किसी रणनीति का हिस्सा लेकिन कांग्रेस की जिताऊ उम्मीदवारों की खोज में कार्यकर्ताओं की मांग खो सी गई।

कांग्रेस ने प्रतापगढ़ से रत्ना सिंह, सुलतानपुर से डा. संजय सिंह, बरेली से प्रवीन ऐरन, खीरी से जफर अली नकवी, धौरहरा से जितिन प्रसाद, कुशीनगर से आर.पी.एन. सिंह, उन्नाव से अन्नू टण्डन, कानपुर से श्रीप्रकाश जायसवाल, फतेहपुर सीकरी से राजबब्बर, अकबरपुर से राजाराम पाल समेत तकरीबन एक दर्जन सीटों पर अपने पुराने दिग्गजों को फिर चुनाव मैदान में उतारा है। वहीं पार्टी के करीब 50 फीसदी उम्मीदवार दूसरे दलों से आए हुए नेता हैं। सीतापुर से बसपा की सांसद रहीं कैसर जहां, सपा छोड़ कर आए राकेश सचान (फतेहपुर), कुं. सर्वराज सिंह (आंवला), आर.के. चौधरी (मोहनलाल गंज), नियाज अहमद (देवरिया), बाल कृष्ण चौहान (गाजीपुर) सरीखे उम्मीदवारों की फेहरिस्त लंबी है।

इनमें तमाम उम्मीदवार तो ऐसे हैं जिन्हें कांग्रेस में शामिल होने के कुछ घंटों के अंदर टिकट मिल गया। भाजपा के पूर्व सांसद रमाकान्त को भदोही, सपा सरकार में मंत्री रहे राजकिशोर सिंह को बस्ती, सपा के पूर्व सांसद बाल कुमार पटेल को बांदा, भाजपा छोड़ कर आईं ओमवती को नगीना, सर्वराज सिंह को आंवला, भाजपा की सांसद सावित्री फूले को बहराइच, भाजपा से आए धीरेन्द्र प्रताप सिंह को श्रावस्ती लोकसभा सीट से टिकट कुछ इसी तरह मिला।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सबसे ज्यादा पढ़ी गई खबर

To Top