गोरखपुर

अंतिम समय अब हम के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने रविकिशन का किया समर्थन,बदल सकता हैं चुनाव का समीकरण

लोकसभा चुनाव अपने अंतिम पायदान पर हैं | प्रधानमंत्री मोदी ने भी अपने चुनाव अभियान की समाप्ति के बाद प्रेस कांफ्रेंस कर मीडिया व लोगों से संवाद किया | आखिरी चरण का मतदान 19 मई को हैं | चुनाव के अंतिम चरण में भी सरगर्मियां अपने चरम पर हैं | 19 मई को उत्तर प्रदेश के महाराजगंज,कुशीनगर,देवरिया,बांसगांव,घोसी,सलेमपुर,बलिया,गाजीपुर,चंदौली,मिर्जापुर,राबर्टसगंज,वाराणसी के साथ गोरखपुर में मतदान हैं | गोरखपुर लोकसभा सीट उत्तर प्रदेश की हाई प्रोफाइल सीट मानी जाती हैं,कई लम्बे अर्से से इस सीट पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ व मठ का कब्जा रहा हैं | बीते लोकसभा उपचुनाव में इस सीट पर भाजपा को हार का सामना करना पड़ा था,जिसने गोरखपुर को पूरे देश में चर्चा का विषय बनाया था | भाजपा के सामने इस बार अपनी इस पारंपरिक सीट को बचाना एक बड़ी चुनौती हैं | पार्टी ने भी अपने खोयी हुई सीट को वापस पाने के लिए भोजपुरी फिल्म के सुपरस्टार रविकिशन को उम्मीदवार बनाया हैं | रविकिशन के लिए गोरखपुर की राह मुश्किल तो नहीं पर आसान भी नहीं हैं | फिर भी पार्टी के साथ मुख्यमंत्री ने यहाँ पूरा जोर लगा दिया हैं | चुनाव प्रचार के समाप्त होने के बाद अंतिम दिन हिंदूवादी सामाजिक संगठन का समर्थन रविकिशन के लिए संजीवनी साबित हो सकता हैं | आज अन्तर्राष्ट्रीय ब्राह्मण हिन्दू महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुनील पाठक ने अपने केन्द्रीय कार्यालय पर कार्यकर्ताओं की बैठक करते हुए हिंदुत्व व ब्राह्मण हित की वकालत करते हुए गोरखपुर से भाजपा प्रत्याशी सुपरस्टार रविकिशन को समर्थन दिया | कभी राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष शरद पवार के खास रहें सुनील पाठक ने पार्टी छोड़ अन्तर्राष्ट्रीय ब्राह्मण हिन्दू महासभा का गठन किया था | संगठन के घोषणा करने के कुछ ही दिन बाद कार्यकर्ताओं की लम्बी फौज तैयार हो गयी | संगठन ने कम समय में ही अपने सामाजिक कार्यों व ब्राह्मण के साथ हिन्दू हितों की बात कर पूर्वांचल में अच्छा-खासा प्रभाव लोगों के बीच किया हैं | संगठन के अध्यक्ष सुनील पाठक भी लोकहित के कार्यों व अपने कड़े तेवरों के लिए काफी मशहूर हैं | गोरखपुर में ब्राह्मण वर्ग तथा कई जातियों में सुनील पाठक का अच्छा खासा प्रभाव माना जाता हैं | अंतिम समय अब हम,जिसे अन्तर्राष्ट्रीय ब्राह्मण हिन्दू महासभा के नाम से जाना जाता हैं,इसके राष्ट्रीय अध्यक्ष का समर्थन चुनाव के समीकरण को भाजपा के पक्ष में मील का पत्थर साबित हो सकता हैं |

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सबसे ज्यादा पढ़ी गई खबर

To Top