चंदौली

चंदौली : दो किसानों को हिरासत में लेने से ग्रामीणों का भड़का आक्रोश, एसओ का किया घेराव, मौके पर पहुंचे आला अधिकारी


ओ पी श्रीवास्तव, चंदौली

जनपद चंदौली के कन्दवा थाना क्षेत्र अंतर्गत अदसड गांव में खेत की सिंचाई कर रहे दो किसानों को पुलिस ने सोमवार की सुबह हिरासत में ले लिया। जिस कारण कुछ घण्टों पश्चात ग्रामीणों का आक्रोश चरम पर दिखा। ग्रामीणों द्वारा गश्त पर निकले कन्दवा थाना प्रभारी का अदसड चौराहे पर घेराव कर दिया और पुलिस के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। सूचना मिलते ही मौके पर पीएसी के जवान और थाने की फोर्स पहुंच गई। इस दौरान ग्रामीणों को समझाने का पूरा प्रयास किया गया लेकिन ग्रामीण गिरफ्तार किसानों को छोड़ने की मांग पर डटे रहे। कुछ देर बाद मौके पर पहुंचे अपर पुलिस अधीक्षक नक्सल अनिल कुमार द्वारा समझाने पर ग्रामीण शांत हुए। हालांकि दोपहर बाद हिरासत में लिए गए किसानों को छोड़ दिया गया।
ग्रामीणों के अनुसार गांव निवासी संतोष मौर्य व बच्चा उर्फ मन्तोष मौर्या सिवान में अपने खेत की सिंचाई कार्य मे जूटे थे कि इसी दौरान सादे वेश में चार पुलिसकर्मियों द्वारा वहां पहुंचकर शरारती तत्व बताते हुए हिरासत में लेकर अपनी गाड़ी में बैठा कर ले गए। ग्रामीणों ने गिरफ्तारी के कारणों को जानने का काफी प्रयास किया, लेकिन पुलिसकर्मियों ने कुछ नहीं बताया। इससे ग्रामीणों में आक्रोश व्याप्त हो गया थोड़ी देर बाद कन्दवा थाना प्रभारी तेजबहादुर सिंह जब गश्त पर निकले तो ग्रामीणों ने उनका अदसड चौराहे पर घराव कर वाहन को रोक दिया। ग्रामीणों का उग्र रूप देखकर पुलिस बैकफ़ुट पर आ गई। ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि पुलिस आमजन को परेशान करने का काम कर रही है। किसानों को सिंचाई कार्य करते वक्त उठाकर ले गई लेकिन यह बताना उचित नहीं समझा कि किस मामले में उन्हें हिरासत में लिया गया है अथवा उनके खिलाफ क्या आरोप है।
सूचना के बाद एएसपी नक्सल अनिल कुमार मयफोर्स के साथ मौके पर पहुंचे। उन्होंने दोनों किसानों को छोड़ने का वादा कर ग्रामीणों को शांत कराया। वहीं दोपहर बाद किसानों को छोड़ दिया गया।
इस बाबत एएसपी अनिल कुमार ने बताया कि थाना कन्दवा पर 02 दिन पूर्व अदसड़ गांव के निवासी कामेश्वर सिंह व सन्तोष सिंह द्वारा नामजद लिखित प्रार्थना पत्र दिया गया था कि उनका स्टाटर चोरी हो गया है। प्रार्थना पत्र में नामजद व्यक्ति सन्तोष मौर्य व मन्तोष मौर्य निवासी अदसड़ को थाना कन्दवा पुलिस द्वारा थाने पर पूछताछ हेतु लाया गया था। जिसके फलस्वरूप गांव के कुछ लोग एकत्रित होकर इसका विरोध कर रहे थे।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सबसे ज्यादा पढ़ी गई खबर

To Top