जिलेवार खबरें

नेपाल बिछा रहा बार्डर के पास कसीनो का जाल, बर्बाद हो रहे है भारतीय पर्यटक

मुनीर आलम,

आने वाले दिनों में भारत के सीमावर्ती क्षेत्रों में नेपाल कसीनो का जाल बिछाएगा। इसके लिए नेपाल सरकार ने मंगलवार को मंत्रिपरिषद की बैठक में कसीनो नियामवली में चौथा संशोधन किया। इसके तहत अब कसीनो भारत-नेपाल की सीमा से मात्र तीन किलोमीटर के दायरे में भी संचालित हो सकेंगे। पहले यह दायरा पांच किलोमीटर था।
संस्कृति, नागरिक, पर्यटन मंत्रालय के प्रवक्ता घनश्याम भूसाल ने बताया कि इस बदलाव से नेपाल को बेहतर आमदनी होगी। युवाओं को रोजगार का अवसर भी मिलेगा। अभी नेपाल के भैरहवा, नेपालगंज, झापा, धनगढ़ी, विराटनगर में मिनी कसीनो चल रहे हैं। सीमा से सटे भैरहवा और नेपालगंज में एक-एक फाइव स्टार होटल मे विश्व स्तरीय कसीनो संचालित भी है।—————————————
लखनऊ और वाराणसी ,गोरखपुर , बस्ती ,कुशीनगर के कसीनो प्रेमियों को भाया नेपाल——————————–
भैरहवा होटल संघ के अध्यक्ष चंद्र प्रकाश श्रेष्ठ ने बताया कि कुछ सालों से कसीनों कारोबार से बेहतर आमदनी हुई है। अब लोगों को इसके लिए काठमांडू जाने की जरूरत नहीं है। पटना, लखनऊ, कानपुर, बनारस जैसे भारतीय शहरों से एक ही दिन में लोग कसीनो में आकर लौट जाते हैं।
बिहार से सटे नेपाली सीमा में तेजी से बढ़ा कारोबार
बिहार में शराब बंदी के बाद होटल और रेस्टोरेंट कारोबार ने सीमा से सटे नेपाल के बाजारों ने लंबी छलांग लगाई है। लाभ के इस गणित को समझते हुए नेपाल सरकार ने अब तीन किलोमीटर की दूरी पर कसीनो चलाने का लाइसेंस देने का निर्णय लिया है।
एक कसीनो से एक करोड़ रॉयल्टी
नेपाल सरकार एक कसीनो से एक साल में एक करोड़ रॉयल्टी वसूल करेगी। इससे उससे बड़ी आमदनी होगी। नेपाल के कसीनो में नेपाली नागरिकों को खेलने की छूट नहीं है। वहां सिर्फ विदेशी नागरिक ही दांव लगा सकते हैं। ऐसे में नेपाल को बड़ी मात्रा में विदेशी मुद्रा भी मिलेगी। इसका सीधा प्रभाव वहां की अर्थव्यवस्था पर पड़ेगा।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सबसे ज्यादा पढ़ी गई खबर

To Top