जिलेवार खबरें

बलिया में शिक्षक ने छात्रों पर लगाया थाली चोरी का आरोप

संजय कुमार तिवारी

उत्तर प्रदेश में शिक्षा और शिक्षक चर्चाओ में बने रहते हैं । उत्तर प्रदेश में योगी की सरकार बनने के बाद शिक्षा में परिवर्तन करने के बहुत प्रयास किये गए पर शिक्षक अपनी जिम्मेदारियां उठाने को तैयार नही है। बल्कि एक दूसरे पर आरोप मढ़ने में आगे निकलने की जुगत में रहते है। ऐसा ही मामला बलिया के एक प्राइमरी स्कूल में देखने को मिला है। जहां बच्चो को चोर कहकर घर से थाली गिलास लाने को कहा गया है।

बलिया में इसके पहले भी शिक्षकों के द्वारा बच्चो से भेद भाव का मामला प्रकाश में आया था। लेकिन उससे भी शर्मनाक स्थिति शिक्षा क्षेत्र सोहावं अंतर्गत बैरिया प्राथमिक विद्यालय में सामने आया है ।यहां बच्चो को कॉपी किताब के साथ थाली गिलास भी घर से लेकर आना जरूरी है ,नही तो नशीब नही होगा दो पहर का भोजन खाने के लिये । यह हम नही वल्कि इस विद्यालय के नौनिहाल बता रहे है । इतना ही नही बल्कि ये बच्चे हरिजन बिरादरी के बच्चे है। जो अपने घर से दोपहर का भोजन करने के लिये थाली लाते हैं। और अपनी थाली धोने के बाद फिर अपने घर लेकर चले जाते हैं। लेकिन विद्यालय प्रशासन इन माशूम बच्चो को विद्यालय की थाली नही देती है कि यह थाली बच्चे चोरी करके अपने घर ले चले जाएं।

विद्यालय प्रशासन ने तो बच्चों पर चोरी का आरोप भी लागाया है।इतना ही नही मासूम बच्चों से भेदभाव कभी मामला सामने आया हैं। हलाकि की जब हमने प्रधानाचार्य से इस बाबत सवाल पूछा तो उन्हों ने कहा है कि हमारे पास थाली ग्लास है । पर बच्चो को इसलिए नही देते कि ये चुरा लेंगे ।

जरा गौर से सुने और देखे इन महोदय को इनको बच्चो को पढ़ना और खाना की निगरानी करना है।रसोइया को खिलाना और बर्तन धोने का काम करना है किन्तु बेबाकी से बोल रहे है मेरे पास गिलास और थाली है पर नही देता हूं कि ए बच्चे चोर है। किताब भी चुराते है।और भी समान चुरा लेते हैं।हमारे पास स्टॉप की कमी की बात कहकर अब अपने बचने की जुगत में लगे हैं।ये है यूपी के शिक्षक जहाँ अपने ही विद्यालय के बच्चो को चोरी का आरोप लगा रहे हैं ।

जब हमने प्रभारी बेसिक शिक्षाधिकारी से बात की तो उन्होंने जांच की बात कहकर अपनी जिम्मेदारी पूरा कर ली । क्या ऐसे शिक्षक पर बेसिक शिक्षा अधिकारी कार्यवाही करेंगें या कागजों तक ही सीमित होकर रह जायेगी बेसिक शिक्षा अधिकारी की जाँच । या फिर होगी कार्यवाही।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सबसे ज्यादा पढ़ी गई खबर

To Top